Hindi Notes-हिन्दी भाषा के प्रयोग में होने वाले अशुद्ध वाक्यों को शुद्ध करना

मानव समाज अपनी संप्रेषण शक्ति ‘भाषा’ के कारण ही विशिष्ट बना हुआ है। भाषा जितनी सरल हो, उतनी अच्छी मानी जाती है। सरल भाषा द्वारा भावों को अभिव्यक्त करना एक कला है। भाषा के तहत वाक्य वह पद समूह होता है जो मनुष्य के विचारों को पूर्णतः प्रकट करता है। अतः इसकी शुद्धता विशेष मायने रखती है। 
वाक्य रचना की अशुद्धियों का मुख्य कारण होता है व्याकारिणक नियमों का सही रूप में न जानना। उदाहरण के लिए यदि किसी व्यक्ति को यह नहीं मालूम कि प्रायः आकारान्त विशेषण अपने विशेष्य (संज्ञा) के लिंग-वचन के अनुसार अन्वित होते (बदलते) हैं तो इस प्रकार की अशुद्धि हो सकती है, जैसे - 

1. काली कुत्ता भौंक रहा है। (काला कुत्ता)
2. पिताजी ने मुझे कहा। (मुझसे कहा)

संज्ञा सम्बन्धी अशुद्धियाँ

अशुद्ध वाक्य: महात्मा गाँधी के सन्देशों से देश सर्वाधिक प्रभावित हुआ। 
शुद्ध वाक्य: महात्मा गाँधी के सन्देश से देश सर्वाधिक प्रभावित हुआ।

अशुद्ध वाक्य: मैं तुमसे रविवार के दिन मिलूँगा।
शुद्ध वाक्य: मैं तुमसे रविवार को मिलूँगा।

अशुद्ध वाक्य: तुम पन्द्रह तारीख के दिन कहाँ रहोगे ?
शुद्ध वाक्य: तुम पन्द्रह को कहाँ रहोगे ?

अशुद्ध वाक्य: प्रातः काल के समय घूमना चाहिए।
शुद्ध वाक्य: प्रातः काल घूमना चाहिए।

अशुद्ध वाक्य: तुम गीता की पुस्तक पढ़ो।
शुद्ध वाक्य: तुम गीता पढ़ो। 

सर्वनाम सम्बन्धी अशुद्धियाँ

अशुद्ध वाक्य: मेरे को उस प्रश्न का उत्तर नहीं आता। 
शुद्ध वाक्य: मुझे उस प्रश्न का उत्तर नहीं आता। 

अशुद्ध वाक्य: उन्हें सब पता लग जायेगा। 
शुद्ध वाक्य: उनको सब पता लग जायेगा। 

अशुद्ध वाक्य: वह लोग जा रहे है।  
शुद्ध वाक्य: वे लोग जा रहे है। 

अशुद्ध वाक्य: यह लोग कहाँ जा रहे हैं ? 
शुद्ध वाक्य: ये लोग कहाँ जा रहे हैं ?

अशुद्ध वाक्य: तुम्हारे में से कौन वहाँ जायेगा ? 
शुद्ध वाक्य: तुममे से कौन वहाँ जायेगा ?

वाक्य सम्बन्धी अशुद्धियाँ

अशुद्ध वाक्य: मुझे मेला में जाना हैं। 
शुद्ध वाक्य: मुझे मेले में जाना हैं। 

अशुद्ध वाक्य: तुम तुम्हारा काम करो।  
शुद्ध वाक्य: तुम अपना काम करो।  

अशुद्ध वाक्य: यह वही लड़की है इसको इनाम मिला था। 
शुद्ध वाक्य: यह वही लड़की है जिसको इनाम मिला था।

अशुद्ध वाक्य: वृक्षों पर कबूतर बैठा था। 
शुद्ध वाक्य: वृक्षों पर कबूतर बैठे थे। 

अशुद्ध वाक्य: आप इधर बैठो।  
शुद्ध वाक्य: आप इधर बैठिए।

अन्य अशुद्धियाँ

अशुद्ध वाक्य: रोहन के एक बेटा है।  
शुद्ध वाक्य: रोहन का एक बेटा है।

अशुद्ध वाक्य: कुत्ता के पास चार पैर होते है।  
शुद्ध वाक्य: कुत्ता के चार पैर होते है।

अशुद्ध वाक्य: पेड़ में पत्ते गिर रहेे है।  
शुद्ध वाक्य: पेड़ से पत्ते गिर रहेे है।

अशुद्ध वाक्य: आपको केवल बीस रूपये मात्र ही दे सकता हूँ।  
शुद्ध वाक्य: आपको केवल बीस रूपये मात्र दे सकता हूँ।

अशुद्ध वाक्य: पेड़ से फल आ रहे है।   
शुद्ध वाक्य: पेड़ पर फल आ रहे है।

वाक्य निर्माण की अन्य अशुद्धियाँ

अशुद्ध वाक्य: इतनी आलस्यता ठीक नहीं है।  
शुद्ध वाक्य: इतना आलस्यता ठीक नहीं है।

अशुद्ध वाक्य: तुम तुम्हारा काम करो।  
शुद्ध वाक्य: तुम अपना काम करो। 

अशुद्ध वाक्य: वृक्षों पर कबूतर बैठा था।   
शुद्ध वाक्य: वृक्षों पर कबूतर बैठा थे।

अशुद्ध वाक्य: मुझे मेला में जाना है।    
शुद्ध वाक्य: मुझे मेले में जाना है।

अशुद्ध वाक्य: मैं किताब पढ़कर के ही उठूँगा।   
शुद्ध वाक्य: मैं किताब पढ़कर ही उठूँगा।

Post a Comment

0 Comments