Hindi Notes - विराम

विराम का अर्थ है, ठहराव या रुकना। जिस तरह हम काम करते समय बीच-बीच में रुकते और फिर आगे बढ़ते है, वैसे ही लेखन में भी विराम की आवश्यकता होती है, अत: पाठक के मनोविज्ञान को ध्यान में रखते हुए भाषा में विरामो का उपयोग आवश्यक है।
विराम का अर्थ है - ठहराव 
अल्प विराम का चिन्ह है - (,)
अर्द्ध विराम का चिन्ह है - (;)
हंस पद किस विराम का एक और नाम है - त्रुटि विराम 
पूर्ण विराम का प्रयोग किया जाता है - वाक्य के अंत में 
उप विराम चिन्ह है - ( : )
किस विराम चिन्ह का प्रयोग सबसे अधिक होता है - (,) अल्प विराम 
उद्धरण चिन्ह का प्रयोग कब किया जाता है - जब किसी कथन का ज्यों-का-त्यों लिखा जाता है।
संछिप्त रूप दिखाने के लिए विराम चिन्ह है - (0)
निर्देशक चिन्ह का प्रयोग किया जाता है - संकेत के लिए 
रात्रि-निशा में रिक्त स्थान पर उचित चिन्ह का प्रयोग कीजिये - (=)
लोप निर्देश (......) का प्रयोग कहाँ किया जाता है ? - जब पूर्व बात की पुनरुक्ति करनी हो।

प्राय: लोग समझते हैं कि "विराम" शब्द का इस अर्थ में प्रयोग आधुनिक है और यह शब्द पंक्चुएशन" का अनुवाद है। किंतु तत्वत: ऐसी बात नहीं है। पाणिनि से भी बहुत पूर्व प्रातिशाख्यों एवं शिक्षाग्रंथों में विराम शब्द का प्रयोग इससे मिलते जुलते अर्थों में मिलता है।

विराम चिन्हो के भेद
1. अल्प विराम  ( , ) 
2. अर्द्ध विराम  ( ; )
3. पूर्ण विराम  ( । )
4. प्रश्न चिन्ह  ( ? )
5. आश्चर्य चिन्ह  ( ! ) विसमयादि चिन्ह
6. निर्देशक चिन्ह ( - )
7. कोष्ठक  (   )
8. अवतरण चिन्ह  ( '--- ')
9. उप विराम ( : )
10. विवरण चिन्ह  (:-)
11. पुनरुक्तिसूचक चिन्ह ("  ")
12. लाघव चिन्ह (0)
13. लोप चिन्ह (......, ++++)
14. पाद चिन्ह (-)
15. दीर्घ उच्चारण चिन्ह (ડ)
16. पाद बिन्दु (÷) 
17. हंसपद चिन्ह (^)
18. टीका सूचक  (*, +. +, +. 2) 

Read More - समास की परिभाषा - Samas Ki Paribhasha Hindi Notes

Post a Comment

0 Comments